राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा मोदी सरकार को क्लीन चीट




नई दिल्ली : राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा मोदी सरकार को क्लीन चीट देने के बाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर कहा कि इस मामले में जांच कराई जाएगी तो भारत के प्रधानमंत्री का सच उजागर होगा।

राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राहुल गांधी ने शुक्रवार को इस विमान सौदे में भ्रष्टाचार होने का आरोप फिर दोहराया और कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार बताए कि इस मामले पर कैग की रिपोर्ट कहां है जिसका उल्लेख शीर्ष अदालत में किया गया है।

दरअसल केंद्र सरकार ने फ्रांस से 58 हजार करोड़ रुपये में 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने की डील की है, जिसमें कांग्रेस भारी गड़बड़ी के आरोप लगा रही है।



हालांकि इससे पहले अरुण जेटली ने प्रेस कॉफ्रेंस कर वित्तमंत्री राफेल डील के संबंध में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस द्वारा राफेल पर जनता के बीच झूठ फैलाए जाने पर हमला बोला। अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर सवाल उठाए थे। यूपीए से सस्ती डील मोदी सरकार में हुई थी। राफेल पर सरकार की सभी दलीलें सही साबित हुईं। साबित हो गया है कि देशहित में हुई राफेल डील।

बताते चलें कि इस मामले में चार याचिकाएं दायर की गई हैं, जिनमें अदालत की निगरानी में डील की जांच की मांग के अलावा अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस को ऑफसेट पार्टनर बनाए जाने पर भी सवाल उठाए गए हैं। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की बेंच के कहने पर केंद्र सरकार डील से जुड़ी डिटेल्स कोर्ट को सौंप चुकी है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!