साक्षात्कार

मज़दूरों की मौत पर जिन्हें तरस नहीं आई, वे हाथी की मौत पर छाती पीटते हैं: डॉ मैनेजर पाण्डेय

कोरोना महामारी व भारत आपदा के दौरान प्रसिद्ध आलोचक मैनेजर पाण्डेय क्या सोच रहे हैं, इस पर यायावर पत्रकार पुष्पराज के साथ साक्षात्कार पढ़िए. विशेष बातें: प्रधानमन्त्री के द्वारा घोषित कर्फ्यू का नाम ‘सरकारी कर्फ्यू‘ […]

विशेष

प्रधान मंत्री के नाम खुला पत्र: अचानक लॉक डाउन के पीछे आखिर आपकी क्या मंशा थी?

-समीर भारती   माननीय प्रधानमंत्री, उम्मीद है कि आप आलिशान से कमरे में बैठ कर अपने देश की अर्थ व्यवस्था, सुरक्षा इत्यादि इत्यादि की ख़बर ले रहे होंगे. वायरस को भगाने के नए नए तरकीब […]