ओपिनियन

हिंदी फिल्मों में राष्ट्रवाद का विकास

प्रियदर्शी दत्त  पिछले 70 वर्षो में हिंदी की अनेक यादगार फिल्मों ने लोगों में देशभक्ति भाव, शौर्य और देश के लिए बलिदान का भाव भरा है। फिल्मों के विषय स्वतंत्रता संघर्ष, आक्रमण और युद्ध, खेल, […]