तीन तलाक़ अध्यादेश लोकतंत्र की हत्या, संसद का अपमान: मुस्लिम बोर्ड




ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि तीन तलाक को दंडनीय अपराध बनाने वाला अध्यादेश लोकतंत्र की हत्या है और वह इसके विरुद्ध अदालत जाने की बात कही है।

AIMPLB के सहायक महासचिव मौलाना खालिद सैफ उल्लाह रहमानी ने यहां संवाददाताओं से कहा हमारी कानून समिति इस पर चर्चा करेगी और इस पर (कानूनी विकल्प) पर गौर कर सकती है।’’

AIMPLB अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तीन तलाक अध्यादेश पर कहा, ‘‘व्यक्तिगत रुप से महसूस करता हूं कि इस अध्यादेश को अदालत में चुनौती देने की जरुरत है… यह गलत अध्यादेश है।

वही ओवैसी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा अध्यादेश राफेल मुद्दे, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और पेट्रोल के बढ़ते दाम से लोगों का ध्यान बंटाने की भाजपा की तरकीब है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!