लातों के भूत बातों से नहीं मानते: लठैत गोवा डीजीपी




गोवा के पुलिस महानिदेशक मुकेश चंदर

पणजी, सितम्बर 4 | यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को जूता से पीटना चाहिए, यह कथनी है गोवा के (लठैत) पुलिस महानिदेशक मुकेश चंदर का, जो पणजी में अभी यातायात का जागरूकता अभियान चला रहे हैं।

रिपोर्टरों से बात चीत करने के दौरान जब चंदर से पूछा गया कि पुलिस उन लोगों का क्या करेगी जो यातायात नियमों को बार बार तोड़ते हैं तो गोवा पुलिस के बॉस ने जो कहा वह आपने शायद ही किसी बड़े पुलिस अधिकारी को खुल्लम खुल्ला कहते हुए सुना होगा। “आपने इस व्यक्ति को पार्किंग निषेध संकेत के नीचे गाड़ी लगाते हुए देखा है। क्या उसने वह संकेत नहीं देखा? उसके लिए कौन सी जागरूकता चाहिए?”

“ऐसे लोगों को जूता से पीटना चाहिए, उनपर जुर्माना लगाया जाना चाहिए. ऐसे लोगों को बार बार सज़ा दिया जाना चाहिए, तभी वे समझेंगे.”

“अगर तब भी वह नहीं मानते तो उनका ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कर देना चाहिए. लातों के भूत बातों से नहीं मानते,” चंदर ने कहा.

“जैसा कि आप देख सकते हैं कि पणजी में फूटपाथ पर पार्किंग की गंभीर समस्या है. दुकानदारों ने फूटपाथ पर क़ब्ज़ा जमा रखा है, इन फूटपाथ पर आसानी से चला भी नहीं जा सकता,” उनहोंने आगे कहा.

“रास्ते में भी बिलकुल उट-पटांग पार्किंग है और इससे यातायात बाधित होता है और यातायात की समस्या पैदा करती है,” चंदर ने कहा।

लेकिन चंदर साहब, आपने सब ठीक कहा कि पणजी में बहुत समस्या है लेकिन ई का, कि जूता से पीटना चाहिए और वह भी आप पब्लिकली कह रहे हैं। आप समझ रहे हैं न कि कहीं पब्लिक ने जूता से एक दुसरे को पीटना शुरू कर दिया तो आपका कोई काम ही नहीं रहेगा।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!