गुजरात : यूपी-बिहार के लोगों पर हमला, मॉब लिचिंग का डर




गुजरात में बीते एक सप्ताह से अन्य प्रांत के लोगों पर हमले हो रहे हैं। ठाकोर सेना नामक सामाजिक संगठन के कार्यकर्ता साबरकांठा, मेहसाणा, गांधीनगर, अहमदाबाद सहित कई इलाकों में बसे उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को निशाना बना रहे हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार हमलों के बाद यूपी-बिहार के पांच हजार लोग गुजरात छोड़ चुके हैं। औद्योगिक व फैक्टि्रयों में काम कर रहे मजदूरों के साथ भी ठाकोर सेना ने मारपीट की है। इसके बाद से गुजरात के कई शहरों से अन्य राज्यों के लोग पलायन करने लगे हैं। अब तक सैकड़ों परिवार गुजरात छोड़कर जा चुके हैं।

अब तक 42 मामले दर्ज कर 342 आरोपितों को पकड़ा है। साथ ही प्रभावित क्षेत्रों में राज्य रिजर्व पुलिस (सीआरपी) की 17 कंपनियों को तैनात किया गया है।

वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मसले को लेकर गुजरात के सीएम विजय रुपाणी से बातचीत की है। नीतीश ने कहा ‘मैंने रविवार को गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की है।

वही इस मामले में कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। निरुपम ने कहा, “बनारस के लोगों ने देखा भी नहीं कि मोदी गुजरात के हैं या महाराष्ट्र के. बनारस के लोगों ने उन्हें गले लगाया और पीएम बना दिया।”

न्यूज़ एजेंसी ANI से बात करते हुए ठाकोर ने कहा, ‘उत्तर गुजरात में गैर गुजरातियों पर बदमाशों द्वारा जो हमले हो रहे हैं, उनमें ठाकोर-क्षत्रिय सेना के कार्यकर्ता शामिल नहीं है। हमारे कार्यकर्ताओं को गलत तरीके से फंसाया जा रहा है. बलात्कार के मामले में राजनीति हो रही है।’

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!