गोरखपुर के बाद बहराइच में शुरू हुआ मासूमों के मौतों का सिलसिला




उत्तर प्रदेश के बहराइच में बीते कई दिनों से जिला अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है यह आंकड़ा 70 पार कर चुका है। पिछले 45 दिनों में 70 मासूमों की इलाज़ के दौरान मौत हो गई। जबकि 86 लोगों को गंभीर हालत में इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करावाया गया है।

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में पिछले छह सप्ताह से अज्ञात ज्वर से 79 मौतें हो चुकी हैं। राज्य सरकार ने बुधवार को जिला स्तरीय मेडिकल टीमों को सक्रिय निगरानी के निर्देश दिये। पिछले डेढ महीने के दौरान सिर्फ अज्ञात ज्वर की वजह से 79 लोगों की जान गयी है।

ख़बरों की माने तो सबसे ज्यादा मौतें बरेली में हुई हैं। बरेली-बदायूं में हालत बेकाबू हैं। बरेली में 1886 मरीज सामने आए हैं तो बदायूं में 372, वहीं हरदोई में 132 मरीज मिले हें। बच्चों की मौतों को रोकने के लिए इस बिमारी से लड़ने की हर संभव कोशिश के बाद जापानी इंसेफेलाइटिस का इस कदर फैलना और एक जिले से दूसरे जिले तक पहुंचा चिंता का विषय हैं।

सूत्रों की माने तो जिला अस्पताल के चिल्ड्रन वार्ड में 40 बेड ही उपलब्ध हैं। जबकि बीते 24 घंटे में अस्पताल में 86 मरीज भर्ती किए गए हैं। अस्पताल प्रशासन मरीजों को उस तरह की सुविधा मुहैया नहीं करवा पा रहा जैसा मरीजों को मिलना चाहिए। इन बच्चों के परिजनों को डर है कि कहीं जमीन पर लिटाकर इलाज करने से बच्चों में कोई और इंफेक्शन न हो जाए।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!