अरविंदर सिंह लवली की घर वापसी, शीला दीक्षित को कहा था बोझ




नई दिल्ली, 17 फरवरी, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क) | दिल्ली के पूर्व मंत्री अरविंदर सिंह लवली शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) छोड़कर फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए और उन्होंने कहा कि भाजपा में विचारधारा को लेकर वह सहज नहीं थे। वह गत वर्ष अप्रैल में भाजपा में शामिल हुए थे। लवली ने दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन, दिल्ली के पूर्व मंत्री हारून यूसुफ और पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की और इसके थोड़ी ही देर बाद लवली की कांग्रेस में वापसी की घोषणा की गई।



लवली ने मीडिया से कहा, “कांग्रेस को छोड़ना मेरे लिए आसान निर्णय नहीं था। यह निर्णय पीड़ा में लिया गया था। विचारधारा के स्तर पर, मैं भाजपा में सहज नहीं था।”

माकन ने लवली की पार्टी में वापसी की घोषणा करते हुए कहा, “लवली फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। हम उनका पार्टी में स्वागत करते हैं।”

कांग्रेस नेता ने कहा, “कांग्रेस उनकी उपस्थिति से मजबूत होगी और हम दिल्ली के लोगों की सेवा करेंगे।”

माकन ने कहा, “लवली और उनके परिवार ने कांग्रेस में लंबे समय से योगदान दिया है। वह पीढ़ियों से हमारे मजबूत सिपाही रहे हैं। वह दिल्ली इकाई के पूर्व प्रमुख और दिल्ली सरकार में मंत्री रह चुके हैं।”

लवली पिछले वर्ष राष्ट्रीय राजधानी में नगर निगम चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे।

चार बार विधायक रह चुके लवली पहली बार 1998 में दिल्ली विधानसभा के लिए चुने गए थे।

लवली की कांग्रेस में वापसी को यहां की 20 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले कांग्रेस के लिए बड़े प्रोत्साहन के तौर पर देखा जा रहा है।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!