आजतक की एंकर अंजना ओम कश्यप से क्यों ख़फ़ा हैं भक्त?




अंजना ओम कश्यप

अंजना ओम कश्यप, नाम तो सुना ही होगा? जी हाँ, वही पत्रकार जिन्होंने नोटबंदी के बाद नए नोट की खासियत से हम सब को आगाह किया था. उनहोंने तब बताया था कि इन नोटों में किस तरह मोदी सरकार ऐसी नैनो चिप लगा कर ला रही है कि नोट खुद चिल्ला चिल्ला कर कहेंगे कि मैं काला हूँ और यहाँ छिपा हूँ और फिर आयकर वालों को पता चल जाएगा और काला धन के मालिक को जेल हो जाएगी. अभी मुजफ्फरपुर में बच्चों की हो रही मौत पर वह बच्चों के वार्ड में घुसकर डॉक्टर से प्रश्न कर रही थीं. इस पर भी उनकी तारीफ़ की गयी थी. लोगों ने कहा कि काश वह यही प्रश्न स्वास्थ्य मंत्रियों से पूछतीं.

अंजना ओम कश्यप को मोदी की दीवानी कहा जाता है. उनके सारे कार्यक्रम ऐसे होते हैं जो दक्षिणपंथी विचारधारा के सपोर्टर को खुश करने के लिए काफी है. भक्त उन्हें हाथों हाथ लिए रहते हैं. मुजफ्फरपुर में डॉक्टर से सवाल पूछने पर उनकी खूब वाह वाही की गयी थी.

फिर आखिर क्या हुआ कि अंजना से मोदी सरकार के भक्त परेशान हो गए.

हुआ यूं कि बरेली के भाजपा विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्रा ने अजितेश नाम के बरेली के एक दलित युवक से शादी कर ली. शादी उनहोंने अपने परिवार के निर्णय के विरुद्ध घर से बाहर जाकर किया था. इसके बाद घर से दबाव आने के बाद और ऑनर किलिंग के डर से उनहोंने कई वीडियो जारी किया कि उनके विधायक पिता से उनके और उनके पति की जान को खतरा है और अगर उनकी या उनके पति की जान जाती है तो इसके ज़िम्मेदार उनके पिता ही होंगे.

साक्षी ने मास कम्युनिकेशन में स्नातक किया है और वह इंडिया टुडे इंस्टिट्यूट से मास्टर्स करना चाहती हैं. इसकी इजाज़त उनके घरवालों ने उन्हें नहीं दिया था. ऐसा उनहोंने अंजना ओम कश्यप के शो में लाइव बताया.

आजतक ने साक्षी, अजितेश और उनके पिता का एक शो किया जिसकी एंकरिंग अंजना ओम कश्यप ने किया. इस शो में अंजना ओम कश्यप ने साक्षी के विधायक पिता राजेश मिश्रा को फ़ोन लाइन पर कनेक्ट किया था.

साक्षी ने अपने पिता से चैनल के माध्यम से कई सवाल किए. साक्षी ने कहा कि आप ही ने तो माँ को मेरे साथ जयपुर भेजा और माँ को कहा था कि देखो लड़की को संभालों वरना वह अजितेश के साथ भाग जाएगी. साक्षी ने अपने भाई पर भी कई आरोप लगाया और कहा कि उसका भाई उसे गालियाँ दिया करता था और उसे मारा भी करता था. साक्षी ने बताया कि बेटी होने के नाते उन पर बहुत सारी पाबंदियां थीं.

यही बात भाजपा भक्तों को नागवार गुज़री और उनहोंने आज तक और अंजना ओम कश्यप के साथ महाभारत छेड़ दिया.

गोपामऊ के भाजपा विधायक का अंजना ओम कश्यप को अजीब न्योता उत्तर प्रदेश, हरदोई के गोपामऊ के भाजपा विधायक श्याम प्रकाश ने तो इस कार्यक्रम से इतने खफा दिखे कि उनहोंने अपने बेटे का रिश्ता ही कश्यप की बेटी से फेसबुक पर भेज दिया. भाजपा विधायक अनुसूचित जाति आरक्षित सीट से भाजपा के विधायक बने हैं.

उनहोंने लिखा “जो लोग विधायक की बेटी द्वारा दलित से शादी के विषय मे, मीडिया, tv डिबेट में विधायक की गलती बता रहे है। उनकी बेटी,या बहन जिस दिन किसी sc के साथ भाग कर शादी करेगी, उस दिन उनको बाप के दर्द और समाज मे बेइज्जती का एहसास हो जायेगा। इस अधेड़ व्यक्ति ने पूरे दलित समाज तथा दोस्ती और विश्वास को कलंकित करने का काम किया है। पूरे दलित समाज को इसका विरोध और बहिष्कार करना चाहिए।”

अपने दुसरे पोस्ट में विधायक ने कहा कि क्या जाति, धर्मनिरपेक्षता, सामाजिक एकता और महिलाओं के अधिकारों पर लंबी बहस करने वाली कश्यप जी भविष्य में मुझ दलित (पासी) के लड़के से अपनी बेटी के रिश्ते का प्रस्ताव रखकर, समाज मे एक उदाहरण और अपनी कथनी और करनी को सच साबित करने का साहस कर सकती है?

ट्विटर यूजर ने #AnjanaOmKshyap और #boycottAajtak हैशटैग के साथ उतारा गुस्सा

इस टीवी शो के बाद ट्विटर यूजर ने अंजना ओम कश्यप और आज तक चैनल के खिलाफ महाभारत छेड़ दिया है. लोग आज तक चैनल को अनसब्सक्राइब कर रहे हैं और अंजना ओम कश्यप को ट्रोल कर रहे हैं.

एक यूजर ने लिखा कि अंजना कश्यप मुझे तुम पर शर्म आती है. मेरी भगवान से प्रार्थना है कि तुम्हें भी साक्षी जैसी एक बेटी दे दे.


एक यूजर ने अंजना कश्यप को पत्रकारिता की राखी सावंत कह डाला.

एक यूजर ने गिद्ध और मरते हुए बच्चे की तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि क्या आप इसमें पता लगा सकते हैं कि अंजना कौन है?

एक यूजर ने लिखा कि यही होता है जब आप अपने पेशे के साथ पहले ही दिन से ईमानदार नहीं रहती हैं. आज आप सच के लिए खड़ी हैं लेकिन देखिए आपको किस तरह अपमानित किया जा रहा है. काश आप एक ईमानदार भारतीय होती और आपने अपने पेशे की कद्र की होती. निराश… शुभकामनाएं.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!