छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में BJP के काफिले पर नक्सलियों का हमला, विधायक भीमा मंडावी समेत 5 की मौत




छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewada) में नक्सलियों (Naxal Attack) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के MLA भीमा मंडावी (Bheema Mandavi) के काफिले पर हमला किया. हमले में बीजेपी एमएलए भीमा मंडावी समेत 5 की मौत हो गई. एंटी नक्सल अभियान के डीआईजी पी सुंदर राज ने भीमा मंडावी के मौत की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि भीमा मंडावी को इस इलामें में जाने से बचने की सलाह दी है. पीएम नरेंद्र मोदी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राहुल गांधी ने हमले की निंदा की है. बता दें नक्सलियों ने दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले के श्यामगिरी के पास कुआकुंडा में बारूदी सुरंग में विस्फोट कर हमले को अंजाम दिया है. पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने बताया कि काफिले में बुलेटप्रूफ गाड़ी के भी परखच्चे उड़ गए हैं. पूरे इलाके की घेराबंदी कर नक्सलियों की तलाश जारी है. बता दें कि यह पूरा इलाका नक्सल प्रभावित है.

बता दें कि जब विधायक के काफिले को निशाना बनाया गया तब वह तब चुनाव-प्रचार करने जा रहे थे. घटनास्थल से मिले फोटो से ऐसा लगता है कि नक्सलियों ने इम्प्रोवाइज़्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) के जरिए धमाके को अंजाम दिया है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी के काफिले पर हुए हमले को लेकर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि हमारे विधायक साथी भीमा मंडावी और चार जवान नक्सली हमले का शिकार हुए हैं. झीरम हमले के बाद संसदीय लोकतंत्र पर यह एक और बड़ा और अत्यंत निंदनीय हमला है. मैं बेहद विचलित हूं, स्तब्ध हूं. दुःख व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. शहीदों को विनम्र श्रद्धांजलि. इस पीड़ा को हमसे ज्यादा कौन समझेगा, जिन्होंने अपने नेताओं की एक पूरी पीढ़ी एक बड़े नक्सल हमले में खो दी थी. हमारी सरकार बस्तर सहित पूरे छग में आदिवासी जनता का विश्वास जीतने के लिए सतत काम कर रही है. इस बात से नक्सली बौखला रहे हैं. यह जघन्य वारदात उनकी इसी बौखलाहट का नतीजा है. हम एक बार फिर दृढ़ता के साथ संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने की अपनी लड़ाई के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हैं. मैं शीर्ष अधिकारियों के साथ घटना की समीक्षा कर रहा हूं. मैंने अधिकारियों के लिए निर्देश दोहराया है कि नक्सली गोलियों का जवाब उनकी भाषा में ही दिया जाए.

बता दें कि भीमा मंडावी ने पिछले साल विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के देवती कर्मा को हराकर दंतेवाड़ा में जीत दर्ज की थी. सूत्रों के मुताबिक नक्सलियों ने पहले सुरक्षाकर्मियों को निशाना बनाया. इसके बाद जब भीमा मंडावी अपनी गाड़ी से बाहर निकले तब उन्हें मौत क घात उतार दिया. बता दें कि छत्तीसगढ़ में तीन चरणों में चुनाव होने हैं. यहां 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

सोर्स: NDTV

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!