आप में नहीं लौटेंगे प्रशांत, योगेन्द्र




प्रशांत और योगेन्द्र दो वर्ष पूर्व आप से निष्कासित होने के बाद एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए (फ़ाइल चित्र)

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

नई दिल्ली, 04 दिसम्बर, 2017 | स्वराज इंडिया के संस्थापक प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने उन खबरों का खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया है कि आम आदमी पार्टी (आप) और उनके बीच पार्टी में वापसी को लेकर बातचीत चल रही है। दोनों नेताओं ने कहा कि इस तरह की कोई भी संभावना नहीं है। प्रशांत ने एक मीडिया रिपोर्ट को ट्वीट किया जिसमें आप के नाराज़ नेता कुमार विश्वास के हवाले से यह बात कही गई थी। भूषण ने इसे ‘बेतुका’ करार दिया।

कुमार विश्वास ने रविवार को आप की कार्यपद्धति से नाखुशी जताते हुए कहा था कि पार्टी को मूल सिद्धांतों की तरफ लौटने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता उनके कई सहयोगियों के साथ बातचीत कर रहे हैं, जिन्होंने पार्टी छोड़ दी है और पार्टी द्वारा किए गए किसी भी गलत कार्य के लिए माफी मांगी है। गौरतलब है कि प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने शीर्ष नेतृत्व से उभरे मतभेदों के बाद पार्टी छोड़ दी थी।

भूषण ने ट्वीट किया, “आप में वापसी को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है और इसकी कोई संभावना भी नहीं है। आप ने भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के सभी आदर्शो के साथ धोखा किया है।”

यादव ने ट्विटर के जरिए कहा कि एक दिन पहले जो विश्वास ने कहा उसे पढ़कर वह ‘हैरान’ हैं।

उन्होंने ट्वीट की एक श्रृंखला में कहा, “वास्तव में? इतना गोपनीय कि हम दोनों ने इसके बारे में कुछ सुना तक नहीं। मेरे ख्याल से ऐसा होने की कोई संभावना नहीं है।”

यादव और भूषण को मार्च 2015 में कथित रूप से पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से हटा दिया गया था। उन्होंने आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की ‘कार्यप्रणाली की सुप्रीमो शैली’ कहकर संबोधित किया था और पार्टी में पारदर्शिता की कमी बताया था।

दोनों ने अक्टूबर 2016 में एक नई राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया की स्थापना की।

-आईएएनएस

योगेन्द्र यादव की विभिन्न विषयों पर हमसे बात-चीत का वीडियो यहाँ देखें:

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*